क्या इख्तिलाफ है चाँद को सूरज से , जो ये अँधेरे में निकल पड़ता है ( Chand Ki Kahani )

क्या इख्तिलाफ* है चाँद को सूरज से , जो ये अँधेरे में निकल पड़ता है … खुद ढलती रात में रहकर रोशन इस जहाँ को करता है …. शायद ड्यूटी अपनी रात में कर दिन में आराम करता है … या दिन में सूरज से  जल रात में जग रोशन करने निकलता है …. अजब […]

Read More क्या इख्तिलाफ है चाँद को सूरज से , जो ये अँधेरे में निकल पड़ता है ( Chand Ki Kahani )