Ab Aur Kya Hona Baki Hai ?

ab aur kya baki hai
Image credit – google

ये कुछ पंक्तियाँ कश्मीर में हो रहे निर्दय क्रत्यो के लिए , उन लोगो के लिए जो रोज कुछ ना कुछ निर्दायता, कायरता दिखा कर हमारे देश के सिपाहियों , पुलिस जवानों को मार रहे है, रोज ये खबर देखने को मिल रही है की आज इस जवान की हत्या हुई तो कल उसकी, आखिर कब तक ये चलेगा, आखिर अब और क्या देखना बाकि है , अगर इन  रक्षकों का गुस्सा तुमपर निकला तो तुम्हारा नामोनिशान भी नहीं रहेगा –

Dil jal rahe hai, ab aankhon me rakt aana baki hai…

Rakshak hi mar rahe hai, ab aur kya hona baki hai….

( दिल जल रहे है, अब आँखों में रक्त आना बाकि है…

रक्षक ही मर रहे है, अब और क्या होना बाकि है….)

Unke Sabra ka imtehaan na lo…

warna imtehaan tumhara abhi baki hai…

( उनके सब्र का इम्तिहान ना लो… 

वरना इम्तिहान  तुम्हारा अभी बाकि है …. )

Agar jo barse  rakshak tumpar,

to tel me mirch saman tadapna tumhara baki hai…

( अगर जो बरसे रक्षक तुमपर…

तो तेल में मिर्च समान तड़पना तुम्हारा बाकि है ….)

Kar diye us watan ke haaton tumko to, dhare ke dhare reh jaoge…

humara to kuch na  hoga, socho ke tab kaise ye dhongi raag gaoge…

( कर दिए उस वतन के हांथों तुमको तो, धरे के धरे रह जाओगे…

हमारा तो कुछ ना  होगा, सोचो के तब कैसे ये ढोंगी राग गाओगे ….)

Ye veer rakshak hai inse na khelo tum,

Ab kya inse dushmano ki tarah tumhara maar khana baki hai…

( ये वीर रक्षक है इनसे ना खेलो तुम …

अब क्या इनसे दुश्मनों की तरह तुम्हारा  मार खाना बाकि है ….)

Dil jal rahe hai, ab aankhon me rakt aana baki hai…

Rakshak hi mar rahe hai, ab aur kya hona baki hai….

( दिल जल रहे हैं, अब आँखों में रक्त आना बाकि है…

रक्षक ही मर रहे है, अब और क्या होना बाकी है ….)

Dua karo ye rakshak rakshak hi rahe….

Warna inka gussa dekhna tumhara abhi baki hai….

( दुआ करो ये रक्षक रक्षक ही रहे…

वरना इनका गुस्सा देखना तुम्हारा अभी बाकि है….)

socho agar ye chhod de tumhari raksha karna, kya bach paoge dushmano se tum …

are khol aankhen  dekho sacchai tum, lagta hai neend se jagna tumhara abhi bhi baki hai….

( सोचो अगर ये छोड़ दे तुम्हारी रक्षा  करना, क्या बच पाओगे दुश्मनों से तुम…

अरे खोल आँखें देखो सच्चाई तुम, लगता है नींद से जागना तुम्हारा अभी  भी बाकि है ….)

 

Written By – Adarsh Beohar

 

 

 

One thought on “Ab Aur Kya Hona Baki Hai ?

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s